राधे कृष्णा की ज्योति अलौकिक- Radhe Krishna Ki Jyoti Lyrics in Hindi – Radhekrishna Bhajan

राधे कृष्णा की ज्योति अलौकिक- Radhe Krishna Ki Jyoti – Radhekrishna Bhajan राधे कृष्णा की ज्योति अलौकिक तीनो लोक में छ्चाए रही है भक्ति विवश एक प्रेम पुजारीं फिर भी डीप जलाए रही है कृष्णा को गोकुल से राधे को कृष्णा को गोकुल से राधे को बरसाने से बुलाए रही है दोनो करो स्वीकार कृपा… Continue reading राधे कृष्णा की ज्योति अलौकिक- Radhe Krishna Ki Jyoti Lyrics in Hindi – Radhekrishna Bhajan