Khilte Hain Gul Yahan Lyrics

Khilte Hain Gul Yahan Lyrics in Hindi खिलते हैं गुल यहाँ, खिलके बिखरने को मिलते हैं दिल यहाँ, मिलके बिछड़ने को खिलते हैं गुल यहाँ … (कल रहे ना रहे, मौसम ये प्यार का कल रुके न रुके, डोला बहार का ) – (२) चार पल मिले जो आज, प्यार में गुज़ार दे खिलते हैं… Continue reading Khilte Hain Gul Yahan Lyrics