KABIR KE DOHE with Their Meaning संत कबीर दास के प्रसिद्ध दोहे

KABIR KE DOHE with Their Meaning संत कबीर दास के प्रसिद्ध दोहे काल करे सो आज कर, आज करे सो अब पल में परलय होएगी, बहुरि करेगा कब । भावार्थ: कबीर दास जी कहते हैं कि जो कार्य तुम कल के लिए छोड़ रहे हो उसे आज करो और जो कार्य आज के लिए छोड़… Continue reading KABIR KE DOHE with Their Meaning संत कबीर दास के प्रसिद्ध दोहे