Durga Saptashti Chapter 13 – श्री दुर्गा सप्तशती तेरहवां अध्याय

Durga Saptashti Chapter 13 – श्री दुर्गा सप्तशती तेरहवां अध्याय श्री दुर्गा सप्तशती- तेरहवां अध्याय सुरथ और वैश्य को देवी का वरदान महर्षि मेधा ने कहा- हे राजन्! इस प्रकार देवी के उत्तम माहात्म्य का वर्णन मैने तुमको सुनाया। जगत को धारण करने वाली इस देवी का ऎसा ही प्रभाव है, वही देवी ज्ञान को… Continue reading Durga Saptashti Chapter 13 – श्री दुर्गा सप्तशती तेरहवां अध्याय