Best Durga Mata Aarti Lyrics Hindi – दुर्गा माँ आरती – Durga Maa Aarti Lyrics – Free Hindi Lyrics

  अम्बे तू है जगदम्बे काली लिरिक्स अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली,तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती। तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी।दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली,दुष्टों को तू ही ललकारती।… Continue reading Best Durga Mata Aarti Lyrics Hindi – दुर्गा माँ आरती – Durga Maa Aarti Lyrics – Free Hindi Lyrics

Lyrics in Hindi – Radha rani aarti lyrics in hindi

Aarti By Suraj | September 4, 2022 Radha rani aarti lyrics in hindi आरती राधाजी की कीजै। टेक…कृष्ण संग जो कर निवासा, कृष्ण करे जिन पर विश्वासा। आरती वृषभानु लली की कीजै। आरती…कृष्णचन्द्र की करी सहाई, मुंह में आनि रूप दिखाई। उस शक्ति की आरती कीजै। आरती…नंद पुत्र से प्रीति बढ़ाई, यमुना तट पर रास रचाई। आरती रास… Continue reading Lyrics in Hindi – Radha rani aarti lyrics in hindi

Lyrics in Hindi – Radha rani aarti lyrics in hindi – Free Hindi Lyrics

Radha rani aarti lyrics in hindi आरती राधाजी की कीजै। टेक…कृष्ण संग जो कर निवासा, कृष्ण करे जिन पर विश्वासा। आरती वृषभानु लली की कीजै। आरती…कृष्णचन्द्र की करी सहाई, मुंह में आनि रूप दिखाई। उस शक्ति की आरती कीजै। आरती…नंद पुत्र से प्रीति बढ़ाई, यमुना तट पर रास रचाई। आरती रास रसाई की कीजै। आरती…प्रेम… Continue reading Lyrics in Hindi – Radha rani aarti lyrics in hindi – Free Hindi Lyrics

Lyrics in Hindi – Shani dev aarti lyrics in hindi – शनिदेव की आरती

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी। सूर्य पुत्र प्रभु छाया महतारी॥ जय जय श्री शनि देव…. श्याम अंग वक्र-दृ‍ष्टि चतुर्भुजा धारी। नी लाम्बर धार नाथ गज की असवारी॥ जय जय श्री शनि देव…. क्रीट मुकुट शीश राजित दिपत है लिलारी। मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी॥ जय जय श्री शनि देव…. मोदक मिष्ठान पान चढ़त… Continue reading Lyrics in Hindi – Shani dev aarti lyrics in hindi – शनिदेव की आरती

Lyrics in Hindi – श्री जगन्नाथ आरती – चतुर्भुज जगन्नाथ | Shri Jagganath Aarti Chaturbhuja Jagannatha

चतुर्भुज जगन्नाथकंठ शोभित कौसतुभः ॥पद्मनाभ, बेडगरवहस्य,चन्द्र सूरज्या बिलोचनः जगन्नाथ, लोकानाथ,निलाद्रिह सो पारो हरि दीनबंधु, दयासिंधु,कृपालुं च रक्षकः कम्बु पानि, चक्र पानि,पद्मनाभो, नरोतमः जग्दम्पा रथो व्यापी,सर्वव्यापी सुरेश्वराहा लोका राजो, देव राजः,चक्र भूपह स्कभूपतिहि निलाद्रिह बद्रीनाथशः,अनन्ता पुरुषोत्तमः ताकारसोधायोह, कल्पतरु,बिमला प्रीति बरदन्हा बलभद्रोह, बासुदेव,माधवो, मधुसुदना दैत्यारिः, कुंडरी काक्षोह, बनमालीबडा प्रियाह, ब्रम्हा बिष्णु, तुषमी बंगश्यो, मुरारिह कृष्ण केशवःश्री राम,… Continue reading Lyrics in Hindi – श्री जगन्नाथ आरती – चतुर्भुज जगन्नाथ | Shri Jagganath Aarti Chaturbhuja Jagannatha