Sawan Ka Mahina Lyrics

Sawan Ka Mahina Lyrics in Hindi

मु: सावन का महीना, पवन करे सोर
ल: पवन करे शोर
मु: पवन करे सोर
ल: पवन करे शोर
मु: अरे बाबा शोर नहीं सोर, सोर, सोर
ल: पवन करे सोर

हां, जियरा रे झूमे ऐसे, जैसे बनमा नाचे मोर
हो सावन का महीना …

मौजवा करे क्या जाने, हमको इशारा
जाना कहाँ है पूछे, नदिया की धारा
मरज़ी है तुम्हारी, ले जाओ जिस ओर
जियरा रे झूमे ऐसे …

रामा गजब ढाए, ये पुरवइया
नइया सम्भालो कित, खोए हो खिवइया
पुरवइया के आगे, चले ना कोई ज़ोर
जियरा रे झूमे ऐसे …

जिनके बलम बैरी, गए हैं बिदेसवा
लाई है जैसे उनके, प्यार का संदेसवा
काली अंधियारी, घटाएं घनघोर
जियरा रे झूमे ऐसे …

Leave a comment

Your email address will not be published.