Rahe Na Rahe Hum Lyrics ,रहें ना रहें हम महका करेंगे

Rahe Na Rahe Hum Lyrics in Hindi

रहें ना रहें हम, महका करेंगे
बन के कली, बन के सबा, बाग़े वफ़ा में …

मौसम कोई हो इस चमन में
रंग बनके रहेंगे इन फ़िज़ा में
चाहत की खुशबू, यूँ ही ज़ुल्फ़ों
से उड़ेगी, खिज़ायों या बहारें
यूँही झूमते, युहीँ झूमते और
खिलते रहेंगे, बन के कली बन के सबा बाग़ें वफ़ा में
रहें ना रहें हम …

खोये हम ऐसे क्या है मिलना
क्या बिछड़ना नहीं है, याद हमको
गुंचे में दिल के जब से आये
सिर्फ़ दिल की ज़मीं है, याद हमको
इसी सरज़मीं, इसी सरज़मीं पे
हम तो रहेंगे, बन के कली बन के सबा बाग़े वफ़ा में
रहें ना रहें हम …

जब हम न होंगे तब हमारी
खाक पे तुम रुकोगे चलते चलते
अश्कों से भीगी चांदनी में
इक सदा सी सुनोगे चलते चलते
वहीं पे कहीं, वहीं पे कहीं हम
तुमसे मिलेंगे, बन के कली बन के सबा बाग़े वफ़ा में …

रहें ना रहें हम, महका करेंगे …

Duet Version
सुमन:
है ख़्हूबसूरत ये नज़ारे
ये बहारें हमारे दम-क़दम से
रफ़ी:
ज़िंदा हुई है फिर जहाँ में
आज इश्क़-ओ-वफ़ा की रस्म हम से
दोनों:
यूँही इस चमन, यूँही इस चमन की
ज़ीनत रहेंगे, बन के कली बन के सबा बाग़-ए-वफ़ा में
रहें ना रहें हम …

=======

rahe.n naa rahe.n ham, mahakaa kare.nge
ban ke kalii, ban ke sabaa, baaGe vafaa me.n …

mausam koI ho is chaman me.n
ra.ng banake rahe.nge in fizaa me.n
chaahat kii khushabuu, yuu.N hii zulfo.n
se u.Degii, khizaayo.n yaa bahaare.n
yuu.Nhii jhuumate, yuhii.N jhuumate aur
khilate rahe.nge, ban ke kalii ban ke sabaa baaGe.n vafaa me.n
rahe.n naa rahe.n ham …

khoye ham aise kyaa hai milanaa
kyaa bichha.Danaa nahii.n hai, yaad hamako
gu.nche me.n dil ke jab se aaye
sirf dil kii zamii.n hai, yaad hamako
isii sarazamii.n, isii sarazamii.n pe
ham to rahe.nge, ban ke kalii ban ke sabaa baaGe vafaa me.n
rahe.n naa rahe.n ham …

jab ham na ho.nge tab hamaarii
khaak pe tum rukoge chalate chalate
ashko.n se bhiigii chaa.ndanii me.n
ik sadaa sii sunoge chalate chalate
vahii.n pe kahii.n, vahii.n pe kahii.n ham
tumase mile.nge, ban ke kalii ban ke sabaa baaGe vafaa me.n …

rahe.n naa rahe.n ham, mahakaa kare.nge …

## Duet Version ##
suman:
hai Khuubasuurat ye nazaare
ye bahaare.n hamaare dam-qadam se
rafii:
zi.ndaa huii hai phir jahaa.N me.n
aaj ishq-o-vafaa kii rasm ham se
dono.n:
yuu.Nhii is chaman, yuu.Nhii is chaman kii
ziinat rahe.nge, ban ke kalii ban ke sabaa baaG-e-vafaa me.n
rahe.n naa rahe.n ham …

Leave a comment

Your email address will not be published.