Lyrics in Hindi – माय नाम इस अन्थोनी गोंसाल्वेस – अमर अकबर अंथोनी lyrics | अमर अकबर अंथोनी – माय नाम इस अन्थोनी गोंसाल्वेस lyrics in Hindi

वे वांट अ वंडरफुल
वाओ वेट वेट
यू सी थे व्होले कंट्री
ऑफ़ थे सिस्टम इस जस्ट
ओप्पोसिशन बय थे देव ग्लोइंग
बिकॉज़ यू अरे
स्पस्टीकरेड़ बी रलरशन
िंताव सेक्सेशन बी
थे तुम्शेर अरे थेय
व्हाट

माय नाम इस अन्थोनी गोंसाल्वेस
माय नाम इस अन्थोनी गोंसाल्वेस
मैं दुनिया में अकेला हूँ
दिल भी है खाली घर भी है खाली
इसमें रहेगी कोई किस्मत वाली
है जिसे मेरी याद आये
जब चाहे चली आये
जिसे मेरी याद आये
जब चाहे चली आये
रूपनगर प्रेमगली
खोली नंबर चार सौ बीस
माय नाम इस अन्थोनी गोंसाल्वेस
मैं दुनिया में अकेला हूँ

यू सी सुच एक्सपेरिमेंट
ससमस्तस फॉर थे एक्स्ट्रा बंगले

अभी-अभी इसी जगह पे
इक लड़की देखि है
अरे देखि है ाजी देखि है
अभी-अभी इसी जगह पे
इक लड़की देखि है
जो मुझे इशारे करती
है पर किसी से शायद डरती है
अरे डरती है ाहा डरती है उफ़
प्यार करेगी क्या डरने वाली
मेरी बनेगी कोई हिम्मत वाली
जिसे मेरी याद आये
जब चाहे चली आये
रूपनगर प्रेमगली
खोली नंबर चार सौ बीस
माय नाम इस अन्थोनी गोंसाल्वेस
मैं दुनिया में अकेला हूँ

यू से थे क्वाइट पिसेंट
ऑफ़ थे लेंडिंग इस इंजेक्ट
ओप्पोसिशन बय थे
ग्लोइंग ेरमेशपियरिक
प्रिजनर इस थे कंट्री टुडे
जू जू जू जू रो रो रोरो रो

बड़े-बड़े लोग यहां
हैं लेकिन ये याद रहे
अरे याद रहे ाजी याद रहे
बड़े-बड़े लोग यहां
हैं लेकिन ये याद रहे
सच्चा प्यार गरीबों का
बाकी है खेल नसीबों का
नसीबों का नसीबों का
दिल की ये बातें जग से निराली
ये क्या समझेगी कोई दौलत वाली
तो जिसे मेरी याद आये
जब चाहे चली आये
जिसे मेरी याद आये
जब चाहे चली आये
रूपनगर प्रेमगली
खोली नंबर चार सौ बीस
माय नाम इस अन्थोनी गोंसाल्वेस
मैं दुनिया में अकेला हूँ
दिल भी है खाली
घर भी है खाली
इसमें रहेगी कोई किस्मत वाली
अरे जिसे मेरी याद
आये जब चाहे चली आये
जिसे मेरी याद आये
जब चाहे चली आये
रूपनगर प्रेमगली
खोली नंबर चार सौ बीस

नो सेबतिअन नो
ो गोल्डी थे अन्थोनी गोंसाल्वेस
येह अन्थोनी गोंसाल्वेस.

Leave a comment

Your email address will not be published.