Kyun Chalti Hai Pawan Lyrics

Kyun Chalti Hai Pawan Lyrics in Hindi

क्यों चलती है पवन, क्यों झूमें है गगन
क्यों मचलता है मन, ना तुम जानो ना हम

क्यों आती है बहार, क्यों लूटता है करार
क्यों होता है प्यार, ना तुम जानो ना हम

ये मदहोशियाँ, ये तनहाईयाँ
तसव्वुर में हैं किस की परछाईयाँ
ये भीगा समा, उमंगे जवां
मुझे इश्क ले जा रहा है कहाँ
क्यों गुम है हर दिशा, क्यों होता है नशा
क्यों आता है मज़ा, ना तुम जानो ना हम

धड़कता भी है, तड़पता भी है
ये दिल क्यों अचानक बहकता भी है
महकता भी है, चहकता भी है
ये दिल क्या वफ़ा को समझता भी है
क्यों मिलती है नज़र, क्यों होता है असर
क्यों होती है सहर, ना तुम जानो ना हम

============

Kyon chalati hai pawan, kyon jhumen hai gagan
Kyon machalata hai man, na tum jaano na ham

Kyon ati hai bahaar, kyon lutata hai karaar
Kyon hota hai pyaar, na tum jaano na ham

Ye madahoshiyaan, ye tanahaaiyaan
Tasawwur men hain kis ki parachhaaiyaan
Ye bhiga sama, umnge jawaan
Mujhe ishk le ja raha hai kahaan
Kyon gum hai har disha, kyon hota hai nasha
Kyon ata hai maja, na tum jaano na ham

Dhadkata bhi hai, tadpata bhi hai
Ye dil kyon achaanak bahakata bhi hai
Mahakata bhi hai, chahakata bhi hai
Ye dil kya wafa ko samajhata bhi hai
Kyon milati hai najr, kyon hota hai asar
Kyon hoti hai sahar, na tum jaano na ham

Leave a comment

Your email address will not be published.