Khilte Hain Gul Yahan Lyrics

Khilte Hain Gul Yahan Lyrics in Hindi

खिलते हैं गुल यहाँ, खिलके बिखरने को
मिलते हैं दिल यहाँ, मिलके बिछड़ने को
खिलते हैं गुल यहाँ …

(कल रहे ना रहे, मौसम ये प्यार का
कल रुके न रुके, डोला बहार का ) – (२)
चार पल मिले जो आज, प्यार में गुज़ार दे
खिलते हैं गुल यहाँ …

झीलों के होंठों पर, मेघों का राग है
फूलों के सीने में, ठंडी ठंडी आग है
दिल के आइने में तू, ये समा उतार दे
खिलते हैं गुल यहाँ …

प्यासा है दिल सनम, प्यासी ये रात है
होंठों मे दबी दबी, कोई मीठी बात है
इन लम्हों पे आज तू, हर खुशी निसार दे
खिलते हैं गुल यहाँ …

========

khilate hai.n gul yahaa.N, khilake bikharane ko
milate hai.n dil yahaa.N, milake bichha.Dane ko
khilate hai.n gul yahaa.N …

(kal rahe naa rahe, mausam ye pyaar kaa
kal ruke na ruke, Dolaa bahaar kaa ) – (2)
chaar pal mile jo aaj, pyaar me.n guzaar de
khilate hai.n gul yahaa.N …

jhiilo.n ke ho.nTho.n par, megho.n kaa raag hai
phuulo.n ke siine me.n, Tha.nDii Tha.nDii aag hai
dil ke aaine me.n tuu, ye samaa utaar de
khilate hai.n gul yahaa.N …

pyaasaa hai dil sanam, pyaasii ye raat hai
ho.nTho.n me dabii dabii, koii miiThii baat hai
in lamho.n pe aaj tuu, har khushii nisaar de
khilate hai.n gul yahaa.N …
Login

Leave a comment

Your email address will not be published.