Ishq Sufiyana Lyrics in Hindi

Ishq Sufiyana Lyrics in Hindi

रब कि क़वाली है इश्क़ कोई
दिल कि दीवाली है इश्क़ कोई
महकी सी प्याली है इश्क़ कोई
सुबह कि लाली है इश्क़
गिरता सा झरना है इश्क़ कोई
उठता सा कलमा है इश्क़ कोई
साँसों में लिपटा है इश्क़ कोई
आँखों में दीखता है इश्क़

मेरे दिल को तू जां से जुदा कर दे
यूँ बस तू मुझको फ़ना कर दे
मेरा हाल तू मेरी चाल तू
बस कर आशिकाना

[तेरे वास्ते मेरा इश्क़ सुफ़ियाना
मेरा इश्क़ सूफ़ियाना
मेरा इश्क़ सूफ़ियाना]x २

रब कि क़वाली है इश्क़ कोई
दिल कि दीवाली है इश्क़ कोई
महकी सी प्याली है इश्क़ कोई
सुबह कि लाली है इश्क़…

सोचूं तुझे तो है सुबह
सोचूं तुझे तो शाम है

हो ओ मंज़िलों पे अब तो मेरी
एक ही तेरा नाम है
तेरे आग में ही जलते
कोयले से हीरा बनते
ख़्वाबों में आगे चलते हैं तुझे बताना

[तेरे वास्ते मेरा इश्क़ सूफ़ियाना
मेरा इश्क़ सुफ़ियाना
मेरा इश्क़ सुफ़ियाना]x २

साथ-साथ चलते चलते हाथ छूट जायेंगे
ऐसी राहों में मिलो ना
बातें-बातें करते-करते रात कट जायेगी
ऐसी रातों में मिलो ना

क्या हम हैं, क्या रब है
जहां तू है वहीँ सब है
तेरे लब मिले मेरे लब खिले
अब दूर क्या है जाना

[तेरे वास्ते मेरा इश्क़ सूफ़ियाना
मेरा इश्क़ सूफ़ियाना
मेरा इश्क़ सूफ़ियाना]x २

रब कि क़वाली है इश्क़ कोई
दिल कि दीवाली है इश्क़ कोई
महकी सी प्याली है इश्क़ कोई
सुबह कि लाली है इश्क़

मेरे दिल को तू जां से जुदा कर दे
यूँ बस तू मुझको फ़ना कर दे
मेरा हाल तू मेरी चाल तू
बस कर आशिकाना

[तेरे वास्ते मेरा इश्क़ सूफ़ियाना
मेरा इश्क़ सूफ़ियाना
मेरा इश्क़ सूफ़ियाना]x २

Leave a comment

Your email address will not be published.