Chup Nahi Chup Hai Ranjha Lyrics

Chup Nahi Chup Hai Ranjha Lyrics

रूठी ऐ सबसे रब्बा
रब्बा दिल भी है रूठा
सब कुछ है बिखरा बिखरा
बिखरा सा रूथा रूथा।

चुप माही चुप है रांझा
बोले कैसे वे ना जा
बोले कैसे वे ना जा
आजा आज।

बोले कैसे वे ना जा
बोले कैसे वे ना जा
चुप माही चुप है रांझा
आजा आज।

वे मेरा डोला नी आया दोला
वे मेरा डोला नी आया दोला
वे मेरा डोला नी आया दोला
वे मेरा डोला नी आया दोला।

ओह रब्ब वि खेल है खेलो
रोज़ लागेव मेले
कहना कुछ ना बदला
झूठ बोले हर वेले।

ओह रब्ब वि खेल है खेलो
रोज़ लागेव मेले
कहना कुछ ना बदला
झूठ बोले हर वेले।

चुप माही चुप है रांझा
बोले कैसे वे ना जा
बोले कैसे वे ना जा
आजा आज।

बोले कैसे वे ना जा
बोले कैसे वे ना जा
चुप माही चुप है रांझा
आजा आज।

नी मैं रज्ज रज्ज हिजर मनाव
नी मैं खुद तो रस मुर्झावा
नी मैं रज्ज रज्ज हिजर मनाव
नी मैं खुद तो रस मुर्झावा।

कल्ली भेड़ छ बैठि
तेरी पीड ले बैठी
रूस रांझा वे मेरा
मैं वी कम् न ऐथि।

कल्ली भेड़ छ बैठी, बैठक
तेरी पीड ले बैठी, बैठक
रूस रांझा वे मेरा, मेरा
मैं वी कम् न ऐथि।

चुप माही चुप है रांझा
बोले कैसे वे ना जा
बोले कैसे वे ना जा
आजा आज।

बोले कैसे वे ना जा
बोले कैसे वे ना जा
चुप माही चुप है रांझा
आजा आजा।

Leave a comment

Your email address will not be published.