होरी खेलत राधे किसोरी lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

होरी खेलत राधे किसोरी lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत होरी खेलत राधे किसोरी बिरिजवा के खोरी। केसर रंग कमोरी घोरी कान्हे अबीरन झोरी। उड़त गुलाल भये बादर रंगवा कर जमुना बहोरी। बिरिजवा के खोरी। लाल लाल सब ग्वाल भये, लाल किसोर किसोरी। भौजि गइल राधे कर सारी, कान्हर कर भींजि पिछौरी। बिरिजवा के खोरी।

आज बिरज में होली रे रसिया lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

आज बिरज में होली रे रसिया lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत आज बिरज में होली रे रसिया, होली रे रसिया, बरजोरी रे रसिया। उड़त गुलाल लाल भए बादर, केसर रंग में बोरी रे रसिया। बाजत ताल मृदंग झांझ ढप, और मजीरन की जोरी रे रसिया। फेंक गुलाल हाथ पिचकारी, मारत भर भर पिचकारी रे… Continue reading आज बिरज में होली रे रसिया lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

होरी खेलैं राम मिथिलापुर मा lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

होरी खेलैं राम मिथिलापुर मा lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत मिथिलापुर एक नारि सयानी, सीख देइ सब सखियन का, बहुरि न राम जनकपुर अइहैं, न हम जाब अवधपुर का।। जब सिय साजि समाज चली, लाखौं पिचकारी लै कर मां। मुख मोरि दिहेउ, पग ढील दिहेउ प्रभु बइठौ जाय सिंघासन मां।। हम तौ ठहरी जनकनंदिनी,… Continue reading होरी खेलैं राम मिथिलापुर मा lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

सरयू तट पर होली lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

सरयू तट पर होली lyrics सरजू तट राम खेलैं होली, सरजू तट। केहिके हाथ कनक पिचकारी, केहिके हाथ अबीर झोली, सरजू तट। राम के हाथ कनक पिचकारी, लछिमन हाथ अबीर झोली, सरजू तट। केहिके हाथे रंग गुलाली, केहिके साथ सखन टोली, सरजू तट। केहिके साथे बहुएं भोली, केहिके साथ सखिन टोली, सरजू तट। सीता के… Continue reading सरयू तट पर होली lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

अवध मां होली खेलैं रघुवीरा lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत

अवध मां होली खेलैं रघुवीरा lyrics | होली के पौराणिक लोकगीत ओ केकरे हाथ ढोलक भल सोहै, केकरे हाथे मंजीरा। राम के हाथ ढोलक भल सोहै, लछिमन हाथे मंजीरा। ए केकरे हाथ कनक पिचकारी ए केकरे हाथे अबीरा। ए भरत के हाथ कनक पिचकारी शत्रुघन हाथे अबीरा।

गोरिया कइके सिंगार अँगना में पिसेली हरदिआ | Goriya karke singar holi song lyrics

गोरिया कइके सिंगार अँगना में पिसेली हरदिआ | Goriya karke singar holi song lyrics गोरिया कइके सिंगार, अँगना में पिसेली हरदिआ ॥२ गोरिया कइके सिंगार, गोरिया करी हो गोरिया कइके सिंगार, गोरिया कइके सिंगार अँगना में पिसेली हरदिआ ….. गोरिया कइके सिंगार अँगना में पिसेली हरदिआ ॥२ गोरिया कइके सिंगार, गोरिया करी हो.. कइके सिंगार… Continue reading गोरिया कइके सिंगार अँगना में पिसेली हरदिआ | Goriya karke singar holi song lyrics

पनिया लाले लाल ए गउरा हमरो के चाही | Paniya lale lal ye gaura hamro ke chahi lyrics

पनिया लाले लाल ए गउरा हमरो के चाही | Paniya lale lal ye gaura hamro ke chahi lyrics पनिया लाले लाल ए गउरा हमरो के चाही ॥२ ऐ अरभंगिया तू रही गइला भोला लाले रंग पनिया बताव कहवा होला खरीदे के परिहें गुलाल हो , आरे खरीदे के परिहें गुलाल, ए गउरा हमरो के चाही।… Continue reading पनिया लाले लाल ए गउरा हमरो के चाही | Paniya lale lal ye gaura hamro ke chahi lyrics

होली के पारम्परिक मैथिलि लोकगीत | होरी खेलैं राम मिथिलापुर

होली के पारम्परिक मैथिलि लोकगीत | होरी खेलैं राम मिथिलापुर मिथिलापुर एक नारि सयानी, सीख देइ सब सखियन का, बहुरि न राम जनकपुर अइहैं, न हम जाब अवधपुर का।। जब सिय साजि समाज चली, लाखौं पिचकारी लै कर मां। मुख मोरि दिहेउ, पग ढील दिहेउ प्रभु बइठौ जाय सिंघासन मां।। हम तौ ठहरी जनकनंदिनी, तुम… Continue reading होली के पारम्परिक मैथिलि लोकगीत | होरी खेलैं राम मिथिलापुर

गोरी तू लट्ठ मार – GORI TU LATTH MAAR Lyrics in Hindi

गोरी तू लट्ठ मार – GORI TU LATTH MAAR Lyrics in Hindi तेरे दरस को ऐसे तरसूं के अब आया मोहे होश आज लगा के माथे तेरी माटी मिटा दूं सारे दोष हो.. तूने ना बुलाया पर मैं तेरी गली आया ले ले सारे बदले जो मैंने तोहे सताया.. हो.. तूने ना बुलाया पर मैं… Continue reading गोरी तू लट्ठ मार – GORI TU LATTH MAAR Lyrics in Hindi

होली रे – Holi Re Lyrics in Hindi – Aamir Khan,

होली रे – Holi Re Lyrics in Hindi होली हो हे… होली आई रंग फूट पड़े यह चालाक चालाक वह ढलक ढलक फिर बजे घुंगरू ढोल बड़े यह यह चालाक चालाक वह धमक धमक सब निकले हैं पि पिके घड़े यह लपक लपक वह धूमक धूमक चम् चम् नाचे परियों की धुनें यह थिरक थिरक… Continue reading होली रे – Holi Re Lyrics in Hindi – Aamir Khan,