Be-sabab Baat Badhane Ki / बेसबब बात बढाने की ज़रूरत क्या है Lyrics in Hindi – Free Hindi Lyrics

बे-सबब बात बढाने की ज़रूरत क्या है
हम ख़फ़ा कब थे मनाने की ज़रूरत क्या है

आपके दम से तो दुनिया का भरम है कायम
आप जब हैं तो ज़माने की ज़रूरत क्या है

तेरा कूचा, तेरा दर, तेरी गली काफी है
बेठिकानों को ठिकाने की ज़रूरत क्या है

दिल से मिलने की तमन्ना ही नहीं जब दिल में
हाथ से हाथ मिलाने की ज़रूरत क्या है
href=”ghazal”>#ghazal href=”nonfilmighazal”>#nonfilmighazal href=”RaagKirwani”>#RaagKirwani

Be-sabab baat badhaane ki zarurat kya hai
Ham khafa kab the manaane ki zarurat kya hai

Apake dam se to duniya ka bharam hai kaayam
Ap jab hain to zamaane ki zarurat kya hai

Tera kucha, tera dar, teri gali kaafi hai
Bethhikaanon ko thhikaane ki zarurat kya hai

Dil se milane ki tamanna hi nahin jab dil men
Haath se haath milaane ki zarurat kya hai

Leave a comment

Your email address will not be published.