सतगुरु आया रे सैया म्हारे पावणा भजन लिरिक्स

सतगुरु आया रे सैया म्हारे पावणा भजन लिरिक्स

सतगुरु आया पावना,
परमेश्वर आया पावना।
आज रे आनंद भयो,
मारा सतगुरु आया पावना।

अरे हिंगलू पाया रो ढाळु ढोलियो,
रेशम रा बिछावना।
जिण पर राजा राम बिराज,
पंछी पाव दबावणा।
सतगुरु आया पावना,
परमेश्वर आया पावना।
आज रे आनंद भयो,
मारा सतगुरु आया पावना।

चोका रन्धावु उजला,
ऊपर गिरत गलावणा।
खीर खांड का अमृत भोजन,
संतो ने जिमावणा।

चोका रन्धावु उजला,
ऊपर गिरत गलावणा।
खीर खांड का अमृत भोजन,
संतो ने जिमावणा।
सतगुरु आया पावना,
परमेश्वर आया पावना।
आज रे आनंद भयो,
मारा सतगुरु आया पावना।

मथुरा जी में कंस मारियो,
लंका जी में रावणा।
बलि के द्वारे आप पधारिया,
वामन रूप धरावणा।
सतगुरु आया पावना,
परमेश्वर आया पावना।
आज रे आनंद भयो,
मारा सतगुरु आया पावना।

अरे अड़सठ तीरथ सतगुरु चरने,
गंगा जी में नावणा।
सतगुरु सरने मीरा बाई बोले,
अरख निरख गुण गावणा।

अरे अड़सठ तीरथ सतगुरु चरने,
गंगा जी में नावणा।
सतगुरु सरने मीरा बाई बोले,
अरख निरख गुण गावणा।
सतगुरु आया पावना,
परमेश्वर आया पावना।
आज रे आनंद भयो,
मारा सतगुरु आया पावना।

Leave a comment

Your email address will not be published.