दीवाली फिर आ गई सजनी Diwali Phir Aa Gayi Sajni Lyrics In Hindi

दीवाली फिर आ गई सजनी Diwali Phir Aa Gayi Sajni Lyrics In Hindi

 
दीवाली फिर आ गई सजनी
दीवाली फिर आ गई सजनी
हाँ हाँ मन का दीप जलालें
हाँ हाँ मन का दीप जलालें
दीवाली फिर आ गई सजनी

आमत के यूँ दीप जलाएं क्यूँ आकाश के तारे
आमत के यूँ दीप जलाएं क्यूँ आकाश के तारे
जगमग जगमग हो
सब दुनिया सो जाये अंधियारे
जगमग जगमग हो
सब दुनिया सो जाये अंधियारे

आँख मलते मलते सजनी
आँख मलते मलते सजनी
जाग उठे उजियारे दीवाली फिर आ गयी सजनी
दीवाली फिर आ गयी सजनी
हाँ हाँ मन का दीप जलाले
दीवाली फिर आ गयी सजनी

हे री सखी चल नन्द गाँव को
लेकर मन की माला
हे री सखी चल नन्द गाँव को
लेकर मन की माला
दे आये अंधियारे मन के ले आये उजियाला
दे आये अंधियारे मन के ले आये उजियाला
जमुना तट पर चल कर सखी
जमुना तट पर चल कर सखी
जीवन के सुख पले
दीवाली फिर आ गई सजनी
दीवाली फिर आ गई सजनी

Leave a comment

Your email address will not be published.