काहे मुस्काए रे Kahe Muskay Re Lyrics in Hindi

काहे मुस्काए रे Kahe Muskay Re Lyrics in Hindi

कोमल शीतल
आयी रे मधुर बेला

कोमल शीतल
आयी रे मधुर बेला
चंचल उज्वल
आई रे मधुर बेला

धीरे धीरे काहे सताये रे तू
मेरे मन को काहे जलाये रे तू
छेड़े मोहे काहे तड़पाये रे ऐ

काहे मुस्काए रे
काहे इतराए रे
काहे मुस्काए रे
काहे इतराए रे

चिड़चिड़े तेरे बावरे नयन
छेड़े मोहे काहे तड़पाये रे
काहे मुस्काए रे
काहे इतराए रे
हो काहे मुस्काए रे

हम्म…

नटखट कन्हैया
पनघट पे मईया
छेड़े रे मोहे
फोड़े रे गगरिया

संग मेरे हाय रास रचाए
पकड़े जो मेरी
छोड़े ना चुनरियाँ

बइयाँ मरोड़े चूड़ियाँ तोड़े
छेड़े मोहे काहे तड़पाये रे

काहे मुस्काए रे
काहे इतराए रे

हो लुक्क छूप निहारे
कंकड़ यूं मारे
छन छना नाना छन
बाजे रे झांजरिया

ये इश्कदारी मत मेरी मारी
अखियों से मेरी रूठि रे निन्दियाँ
साँझ सवेरे पीछा ना छोड़े
छेड़े मोहे काहे तड़पाये रे

काहे मुस्काए रे
काहे इतराए रे

चिड़चिड़े तेरे बावरे नयन
छेड़े मोहे काहे तड़पाये रे
काहे मुस्काए रे
काहे इतराए रे

Leave a comment

Your email address will not be published.